नरसिंहपुर

कलेक्टर ने की मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान की समीक्षा, समय सीमा की बैठक सम्पन्न

लापरवाही पर कारण बताओ नोटिस देने व वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश

नरसिंहपुर/नरसिंहपुर केसरी- कलेक्टर रोहित सिंह ने मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान की जिले में प्रगति की विस्तार से समीक्षा समय सीमा की बैठक में सोमवार को की। यह अभियान 17 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक चलाया जा रहा है। कलेक्टर ने निर्देशित किया कि शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को दिलाना सुनिश्चित किया जावे। बैठक की शुरूआत राष्ट्रगान गाकर की गई। बैठक में सीईओ जिला पंचायत डॉ. सौरभ संजय सोनवणे, अपर कलेक्टर दीपक कुमार वैद्य सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

लापरवाही पर कारण बताओ नोटिस देने व वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश

      बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के सर्वे कार्य में लापरवाही करने पर सीईओ जनपद नरसिंहपुर एवं चांवरपाठा को कारण बताओ नोटिस जारी कर एक वेतन वृद्धि रोकने व बैठक से अनुपस्थित रहने पर सीईओ जनपद गोटेगांव का वेतन काटने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने नगरीय क्षेत्रों में सर्वे के असंतोषजनक कार्य पर गाडरवारा, करेली व गोटेगांव के सीएमओ को कारण बताओ नोटिस जारी कर एक वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने सर्वे कार्य ठीक से नहीं होने पर एसडीएम गाडरवारा व गोटेगांव को अप्रसन्नता पत्र देने के निर्देश एडीएम को दिये।

कम्युनिकेशन प्लान तैयार कर कॉल सेंटर बनाने के निर्देश

            बैठक में बताया गया कि जिले में 450 ग्राम पंचायतों के अंतर्गत करीब एक लाख 20 हजार परिवारों का सर्वे पूर्ण हो गया है। कलेक्टर ने अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए कम्युनिकेशन प्लान तैयार कर कॉल सेंटर बनाने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के शुभारंभ अवसर पर जिले में हुये पौधरोपण और रक्तदान शिविरों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि रक्तदान शिविर आयोजन की पूर्व सूचना दी जावे। इन शिविरों में ब्लड टेस्टिंग टीम लगाई जावे। रक्तदान के साथ- साथ खून की जांच भी हो।

विभागीय योजनाओं का हो व्यापक प्रचार- प्रसार

      कलेक्टर ने प्रधानमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय नि:शक्त पेंशन योजना, राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना, समग्र सामाजिक सुरक्षा पेंशन, मुख्यमंत्री कन्या अभिभावक योजना, बहुविकलांग दिव्यांग योजना, कल्याणी विवाह सहायता योजना, नि:शक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना, आयुष्मान भारत निरामयम, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना, सहकारिता विभाग से संबंधित योजनाओं, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना समेत शासन की विभिन्न योजनाओं का व्यापक प्रचार- प्रसार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग के जिला प्रमुख विभागीय योजनाओं के बारे में जानकारी देंगे और वीडियो तैयार करायेंगे। कलेक्टर ने कहा कि अभियान के बारे में जागरूकता बढ़ाई जावे। दीवार लेखन, फ्लैक्स व बैनर आदि के माध्यम से जनपद पंचायतों के सीईओ व नगरीय निकायों के सीएमओ द्वारा व्यापक प्रचार- प्रसार कराया जाये। संबंधित एसडीएम अभियान की मॉनीटरिंग करें।

      कलेक्टर ने लंपी वायरस से बचाव के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए पशु चिकित्सा सेवायें/ पशु पालन विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना का सर्वे करवाने और इसकी समीक्षा के लिए एसडीएम को निर्देशित किया।

सेवा पखवाड़ा के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के बारे में हुई चर्चा

      बैठक में 17 सितम्बर से दो अक्टूबर तक एक दिन के अंतराल से चलाये जा रहे सेवा पखवाड़ा के दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के बारे में चर्चा की गई। बताया गया कि सेवा पखवाड़ा के दौरान 21 सितम्बर को सभी नगरों एवं ग्रामों में जन सहयोग से व्यापक साफ- सफाई एवं स्वच्छता का अभियान चलाया जायेगा। 22 सितम्बर को जिला स्तरीय कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना के हितग्राहियों को सपरिवार आमंत्रित किया जायेगा। 23 सितम्बर को ऊर्जा साक्षरता संबंधी गतिविधियां होंगी। 24 सितम्बर को अनुसूचित जाति- जनजाति छात्रावासों में भ्रमण एवं निरीक्षण कर विद्यार्थियों को विभिन्न शासकीय योजनाओं की जानकारी दी जायेगी। 26 सितम्बर को स्वस्थ बाल स्पर्धा होगी। 27 सितम्बर को गौशालाओं में गौसेवा के कार्यक्रम होंगे। 29 सितम्बर को 19 एमएसएमई क्लस्टर का शिलान्यास कार्यक्रम होगा और एमएसएमई सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। कलेक्टर ने इस संबंध में व्यापक प्रचार- प्रसार कराने के निर्देश दिये। आंगनबाड़ी, ग्राम पंचायतों में प्रचार- प्रसार और दीवार लेखन कराने के लिए कहा गया।

मवेशियों के मालिकों को किये जायेंगे नोटिस जारी, गौसेवकों की होगी नियुक्ति

      बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने गौशालाओं के संचालन एवं गौवंश के लिए भूसा एवं पानी की व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने गौसेवा के लिए जनसहयोग लेने की बात कही। गौ संरक्षण समिति की बैठक कराने के निर्देश उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें को दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि सड़कों व हाईवे पर मवेशी विचरण करते हैं, इससे दुर्घटना होने की संभावना होती है। इसके लिए हाका गैंग प्रभावी कार्रवाई करें। मवेशियों के सींग में रेडियम भी लगाये जायें। विचरण करने वाले मवेशियों के मालिकों को नोटिस जारी किया जाये। उन्होंने बताया कि गौसेवकों की नियुक्ति भी की जा रही है।

      कलेक्टर ने निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के शिविरों और भ्रमण के दौरान अधिकारी स्कूल, आंगनबाड़ी का भी निरीक्षण करें। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालयों के निर्माण के बारे में भी जानकारी लें। श्री सिंह ने कहा कि अभियान के दौरान बेहतर कार्य करने वाले सेक्टर को मध्यप्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर सम्मानित भी किया जायेगा।

      बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने अमृत सरोवर, जल जीवन मिशन, मूंग खरीदी, स्कूलों में जाति प्रमाण पत्र बनाये जाने, आंगनबाड़ियों में विद्युत कनेक्शन एवं पूर्व में आयोजित प्रोजेक्ट निदान शिविरों की प्रगति की समीक्षा की।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close