प्रादेशिक

प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कराने के लिए मांगी गई दस हज़ार की रिश्वत में लोकायुक्त ने दबोचा

कटनी/नरसिंहपुर केसरी- पंचायतों में किस कदर सरकार की जन हितेषी योजना प्रधानमंत्री आवास रिश्वत की भेंट चढ़ गई इसका जीता जागता उदाहरण कटनी जिले के स्लीमनाबाद थाना अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत कौड़ियां में देखने को मिला जहां पर पीएम आवास स्वीकृत कराने की एवज में सहायक सचिव और सरपंच द्वारा हितग्राही से 10000 रूपय की रिश्वत मांगी गई लेकिन रिश्वत के नोट गिनते ही इनके हाथ रंग गए

यह है पूरा मामला मामला
मध्य प्रदेश के कटनी जिले की कौड़ियां पंचायत का है जहां पर पीएम आवास स्वीकृत कराने के एवज में 10,000 रूपय की रिश्वत मांग रहे ग्राम पंचायत कौड़ियां जनपद पंचायत बहोरीबंद के रोजगार सहायक और सरपंच को आज लोकायुक्त की टीम ने रिश्वत के रंग लगे हुए नोटों सहित गिरफ्तार कर लिया जानकारी के मुताबिक उस्ताज कुशवाहा पिता राम जी कुशवाहा ग्राम कौड़ियां तहसील बहोरीबंद थाना स्लीमनाबाद जिला कटनी का निवासी है ग्राम पंचायत कौड़ियां में प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कराने के एवज में ग्राम रोजगार सहायक अजय कुमार चक्रवर्ती और सरपंच ग्राम पंचायत कौड़ियां भारत कुमार गुप्ता 10,000 रुपयकी रिश्वत मांग रहे थे जिस पर आवेदक ने रोजगार सहायक से सौदा तय कर बुधवार को 10,000 रुपय देने का वादा किया था और इसकी शिकायत लोकायुक्त से की थी।

पंचायत भवन में रिश्वत लेते गिरफ्तार
उस्ताज कुशवाहा को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान स्वीकृत कराने रुपयों की मांग करने के बाद आज ग्राम पंचायत भवन रिश्वत के पैसे लेकर आने का बुलावा भेजा था, वादे के अनुसार आवेदक ग्राम पंचायत में रिश्वत की राशि लेकर पहुंचा तो सरपंच और रोजगार सहायक जैसे ही 10,000 रुपय लिए उसी समय लोकायुक्त की टीम पहुंची और रोजगार सहायक के लिए रिश्वत की राशि लेने वाले को रंगे हाथ पकड़ लिया लोकायुक्त की टीम में शामिल निरीक्षक घनश्याम मर्सकोले ने बताया कि रोजगार सहायक अपने साथ सरपंच के साथ रकम ली तभी उसे रंगे हाथों पकड़ा गया है। टीम में निरीक्षक घनश्याम मर्सकोले, कमल सिंह उईके, भूपेंद्र दीवान, आरक्षक दिनेश दुबे, अमित मंडल, विजय सिंह बिष्ट एवं जीत सिंह शामिल रहे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close