नरसिंहपुर

निजी अस्पताल संचालकों के साथ हुई बैठक

नरसिंहपुर/नरसिंहपुर केसरी- कलेक्टर भरत यादव ने कहा कि सीटी स्कैन एवं रेमडेसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता हर कोविड संक्रमित व्यक्ति को नहीं होती है। यह बात निजी चिकित्सालयों के संचालक एवं डॉक्टर्स मरीज एवं उनके परिजनों को समझायें। उक्त विचार कलेक्टर भरत यादव ने बुधवार को निजी चिकित्सालय संचालकों, इंडियन मेडिकल एशोसिएशन के सदस्यों के साथ हुई बैठक में व्यक्त किये।

         बैठक में हॉस्पीटल संचालकों द्वारा सुझाव स्वरूप कहा गया कि ऑक्सीजन सिलेंडर एवं रेमडेसिविर इंजेक्शन की पर्याप्त उपलब्धता नहीं है। उक्त सामग्री जिला चिकित्सालय के द्वारा वितरित की जानी चाहिये। उन्होंने कहा कि जिले में कोविड टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाने की आवश्यकता है। इसके लिए रेपिड एंटीजन टेस्ट किट निजी प्रतिष्ठानों से क्रय कर उपलब्ध कराई जा सकती है। संचालकों एवं चिकित्सकों द्वारा कहा गया कि होम आइसोलेशन को बढ़ावा दिया जाये। अस्पतालों में पर्याप्त मानव संसाधन का भी अभाव है। अत: पैरामेडिकल स्टाफ की आवश्यकता है।

         कलेक्टर भरत यादव ने कहा कि सीटी स्कैन करने वाले संस्थान परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क एवं सेनेटाइजर पर्याप्त संख्या में रखें। कलेक्टर भरत यादव ने अपील करते हुए कहा कि पैरामेडिकल स्टॉफ आगे आकर इस महामारी से लड़ने में सहयोग करें।

         बैठक में जिला पंचायत सीईओ केके भार्गव, सीएमएचओ डॉ. मुकेश कुमार जैन, डॉ. संजीव चांदोरकर, डॉ. पराडकर, डॉ. अग्रवाल सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close