ग्वालियर

धूमधाम से सम्पन्न हुआ श्रीकृष्ण रुक्मणि का विवाह

कथा व्यास राधिका शास्त्री की शानदार प्रस्तुति

ग्वालियर/पिछोर/नरसिंहपुर केसरी- श्रीमद भागवत कथा में आज छठे दिन श्रीकृष्ण और रुक्मणि का विवाह धूमधाम से मनाया गया। विवाह उत्सव के दौरान श्रद्धालु अपने आप को रोक नहीं पाए और जमकर नाचे कथा व्यास राधिका शास्त्री ने कहा कि रुक्मणि भगवान की माया के समान थी,रुक्मणि ने मन ही मन यह निश्चित कर लिया था कि भगवान श्री कृष्ण ही मेरे योग्य पति हैं लेकिन रुक्मणि का भाई रुक्मी श्री कृष्ण से द्वेष रखता था इससे उसने उस विवाह को रोक कर शिशु पाल को रुक्मणि का पति बनाने का निश्चय किया इससे रुक्मणि को दुःख हुआ।उन्होंने अपने एक विश्वाश पात्र को भगवान श्रीकृष्ण के पास भेजा साथ ही अपने आने का प्रयोजन बताया।इसके बाद श्रीकृष्ण विदर्भ जा पहुंचे।उधर रुक्मणि का शिशु पाल के साथ विवाह की तैयारी हो रही थी।परंतु उनकी प्रार्थना का असर हुआ और श्रीकृष्ण का विवाह रुक्मणि के साथ हुआ।कथा सुनने आये सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीकृष्ण वा रुक्मणि जी की झांकी के दर्शन किये।कथा में सैंकड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ रही।

Tags
Back to top button
Close