नरसिंहपुर

गेहूं/ दलहन- तिलहन उपार्जन वर्ष 2020- 21 की तैयारियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न

नरसिंहपुर/नरसिंहपुर केसरी- राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में रबी विपणन वर्ष 2020- 21 में समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी 25 मार्च से 22 मई 2020 तक किया जाना है। इस संबंध में गेहूं एवं दलहन/ तिलहन खरीदी की तैयारी एवं संभागीय समीक्षा बैठक 14 मार्च के संबंध में बुधवार को कलेक्टर श्री दीपक सक्सेना की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई।
बैठक मं उप संचालक कृषि, उपायुक्त सहकारिता विभाग, सूचना विभान अधिकारी- एनआईसी, जिला आपूर्ति अधिकारी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित, जिला विपणन अधिकारी, जिला प्रबंधक स्टेट वेयर हाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेशन और निरीक्षक नाप तौल विभाग के अधिकारी- कर्मचारी मौजूद थे।
बैठक में बताया गया कि जिले में गेहूं खरीदी हेतु नोडल एजेंसी विपणन संघ को बनाया गया है। उपार्जन नीति अनुसार रबी उपार्जन के भंडारण हेतु गोदाम स्तर पर अधिकतम केन्द्र स्थापित करने के संबंध में जिला प्रबंधक स्टेट वेयर हाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेशन नरसिंहपुर ने बताया कि विगत रबी/ खरीफ सीजन अंतर्गत गोदाम स्तरीय खरीदी केन्द्र के गोदाम मालिकों को शासन स्तर से कुल खरीदी के विरूद्ध एक प्रतिशत कमीशन की राशि का भुगतान जिले की खरीदी एजेंसी द्वारा नहीं किया गया है। कमीशन की राशि नहीं मिलने के कारण गोदाम स्तरीय केन्द्र बनाये जाने हेतु गोदाम मालिक तैयार नहीं हो रहे हैं। जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि रबी विपणन वर्ष 2019- 20 में गोदाम स्तरीय केन्द्रों को एक प्रतिशत कमीशन की राशि का भुगतान जीआईटी पोर्टल कके माध्यम से सीधे समितियों के खाते में शासन द्वारा किया जाना है, जो अभी तक नहीं किया गया है। इस संबंध में ऐसे जिन गोदामों के कमीशन की राशि बकाया है की सूची कमीशन की राशि सहित खाद्य विभाग को उपलब्ध कराये जाने के निर्देश कलेक्टर श्री सक्सेना ने जिला प्रबंधक एसडब्ल्यूसी को दिये। उन्होंने इस संबंध में शासन को अर्द्धशासकीय पत्र लिखे जाने के लिए भी निर्देशित किया गया। गोदाम स्तरीय केन्द्र बनाये जाने हेतु जिले कके गोदाम मालिकों की बैठक आहूत किये जाने के निर्देश भी संबंधित विभाग के अधिकारी को दिये।
बैठक में कलेक्टर श्री सक्सेना ने गेहूं उपार्जन नीति के अनुसार जिला प्रबंधक मप्र स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेशन, जिला विपणन अधिकारी, जिला प्रबंधक एमपीडब्ल्यूएलसी, महाप्रबंधक जिल सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित एवं जिला आपूर्ति अधिकारी से संस्थाओं ककी पात्रता के संबंध में राय प्राप्त कर पात्र संस्थाओं से उपार्जन केन्द्र संचालन हेतु आवेदन प्राप्त कर, सभी पात्र संस्थाओं की समीक्षा/ रैकिंग कर उपयुक्त संस्था के चयन हेतु संस्थाओं की सूची का अनापत्ति प्रमाण- पत्र खाद्य कार्यालय मं यथाशीघ्र उपलब्ध कराये जाने हेतु उपायुक्त सहकारिता नरसिंहपुर को निर्देशित किया गया।
जिले में उपार्जन अनुसार दो लाख मे. टन के विरूद्ध 8 हजार गठान बारदाने की आवश्यकता होगी। जिले में 8 हजार गठान के विरूद्ध दो हजार 695 बारदाना उपलब्ध है, शेष 5 हजार 305 बारदाना की आवश्यकता उपार्जन के पूर्व सुनिश्चित किये जाने के निर्देश कलेक्टर श्री सक्सेना ने जिला प्रबंधक‍ मप्र स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेशन नरसिंहपुर को दिये।
जिले में परिवहन व्यवस्था अंतर्गत जिला विपणन अधिारी ने बताया कि परिवहनकर्ता द्वारा सेक्टर नरसिंहपुर, गोटेगांव, करेली एवं गाडरवारा में ई- टेंडर के माध्यम से निविदायें की गई हैं। तकनीकी निविदा खोली जाने की कार्यवाही प्रक्रिया में है। परिवहन के संबंध में परिवहनकर्ताओं की शीघ्र बैठक आहूत करने के निर्देश जिला विपणन अधिकारी को दिये।
जिले की भंडारण व्यवस्था के संबंध में जिला प्रबंधक एमपीडब्ल्यूएलसी नरसिंहपुर ने बताया कि जिले में उपार्जन अनुसार दो लाख मे. टन के विरूद्ध 70 हजार मे. टन के ही कवर्ड गोदाम स्कंध भंडारण हेतु उपलब्ध है। शेष एक लाख 30 हजार मे. टन शार्टफाल है, जिसमें से गाडरवारा में 30 हजार मे. टन एवं तेंदूखेड़ा में 50 हजार मे. टन के कच्चे/ पक्के केप निर्माण कराये जाने हेतु भूमि आवंटित की गई है, जिसका कार्य अभी होली त्यौहार के कारण प्रारंभ नहीं हुआ है, जिसे शीघ्र ही करा लिया जावेगा। इसके पश्चात ही 50 हजार मे. टन का शार्टफाल होगा। इस संबंध में कलेक्टर श्री सक्सेना ने जिले की मंडी, उपमंडी एवं प्राईवेट गोदामों को अधिग्रहण करने के निर्देश दिये।
जिला विपणन अधिकारी नरसिंहपुर ने बताया कि रबी उपार्जन वर्ष 2019- 20 में उपर्जान करने वाली समितियों से प्रासंगिक व्यय एवं कमीशन के भुगतान 569.78 लाख रूपये में से 277.50 लाख रूपये किया गया है, शेष 292.28 लाख रूपये की राशि शासन स्तर से जीआईटी पोर्टल के माध्यम से सीधे समितियों के खाते में शासन द्वारा किया जाना है, जो शासन स्तर से लंबित है। कलेक्टर श्री सक्सेना ने इस संबंध में ऐसी संस्थाएं जिनके प्रासंगिकक/ कमीशन की राशि बकाया है, की सूची बकाया राशि सहित खाद्य विभाग को उपलब्ध कराये जाने हेतु उपायुक्त सहकारिता/ महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक/ जिला विपणन अधिकारी नरसिंहपुर को निर्देशित किया गया। तत्संबंध में शासन को अर्द्धशासकीय पत्र लिखे जाने हेतु जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देश भी दिये गये।
विधायक गाडरवारा द्वारा पत्र के माध्यम से तहसील गाडरवारा मं ग्राम रहमा एवं रम्पुरा में गेहूं उपार्जन के अंतर्गत तुलाई केन्द्र प्रारंभ कराये जाने हेतु प्रस्ताव दिया गया, जिसके संबंध में महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित नरसिंहपुर द्वारा अवगत कराया गया कि सेवा सहकारी समिति रम्पुरा द्वारा पंजीयन कार्य किया गया है, से उपार्जन कार्य भी कराया जा सकता है। ग्राम रहमा से लगभग दो किमी की दूरी पर ग्राम अमाड़ा में गेहूं खरीदी का कार्य किया जाता है, उपरोक्त को दृष्टिगत रखते हुए ग्राम रहमा में गेहूं खरीदी केन्द्र बनाया जाना उचित नहीं है। इसी प्रकार अध्यक्ष जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित नरसिंहपुर द्वारा ग्राम कोसमखेड़ा एवं बिल्धा में गेहूं खरीदी केन्द्र खोले जाने का प्रस्ताव दिया गया है, जिसके संबंध में उपायुक्त सहकारिता एवं महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित नरसिंहपुर से उक्त दोनों ग्रामों खरीदी केन्द्र बनाये जाने हेतु औचित्यपूर्ण प्रस्ताव दिये जाने हेतु निर्देश दिये गये।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close