नरसिंहपुर

विधानसभा अध्यक्ष ने स्वास्थ्य शिविर का किया शुभारंभ

नरसिंहपुर-  जिला अधिवक्ता संघ के तत्वावधान में जिला न्यायालय परिसर में मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति की गरिमामयी उपस्थिति में स्वास्थ्य शिविर, सम्मान समारोह एवं मध्यस्थता जागरूकता का शुभारंभ किया गया। विदित है कि 11 नवम्बर से 14 नवम्बर तक चलने वाले इस 4 दिवसीय स्वास्थ्य शिविर में चिकित्सकों एवं विशेषज्ञों द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा।

         शुभारंभ के अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में मप्र लोक सेवा आयोग पूर्व अध्यक्ष श्री विनय शंकर दुबे, मप्र लघु वनोपज संघ अध्यक्ष श्री वीरेन्र्द गिरी गोस्वामी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री संदीप पटैल, श्री अरूण गुप्ता, चौ. जोगेन्द्र सिंह, एडीजे श्री संजय गुप्ता, श्री एसएल साहू, श्री आरके नायक, श्री राजेन्र्द सिंह, डॉ. संजीव चांदोरकर, चौ. चंद्रशेखर साहू, श्री प्रवीण शर्मा, श्री नरेन्द्र अवस्थी, श्री देवेन्द्र गोस्वामी, अधिवक्ता संघ सदस्य, कलेक्टर श्री दीपक सक्सेना, पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह मौजूद थे।

         कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने कहा कि इस परिसर से उनकी पुरानी यादें जुड़ी हुई हैं। उन्होंने बताया कि परिसर में पुरानी एसबीआई बिल्डिंग से पुराने कलेक्ट्रेट के लिये अब 7 मीटर व्यवस्थित चौड़ी सड़क का निर्माण किया जायेगा, जिससे अब न्यायाधीशों, अधिवक्ताओं एवं पक्षकारों को किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होगी। उन्होंने कहा कि पीजी कॉलेज में लम्बे समय से विधि संकाय की कक्षायें संचालित की जा रही हैं। उनके द्वारा सेंट्रल स्कूल के समीप 10 एकड़ की भूमि पर विधि कॉलेज के लिए प्रस्ताव बनाकर मध्यप्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार को भेजा जा चुका है।

कैंटीन होगी अब पहले से बेहतर व व्यवस्थित

         कैंटीन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि परिसर में इस कैंटीन को सुव्यवस्थित ढंग से बनाया जाये। इसके जीर्णोद्धार के लिए उनके द्वारा 4 लाख रूपये की राशि प्रदान करने की घोषणा की गई। इसके साथ ही जिला न्यायालय में हॉल बनाये जाने के लिए 32 लाख रूपये की लागत का प्राक्कलन बनाकर विधि विभाग की ओर भेजा जा चुका है। सभी की सहमति से उक्त हॉल स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. श्री शंकरलाल दुबे के नाम से होगा।

लाइब्रेरी के लिये मिली 7 लाख रूपये की सौगात

         विधि की शिक्षा, साहित्य, लेख, किताबों के लिये पुस्तकालयों की आवश्यकता होती है। इस पर दृष्टिपात करते हुये उन्होंने कहा कि लाइब्रेरी के लिए उनके द्वारा 7 लाख रूपये की राशि स्वीकृत की जाती है। विधि पुस्तकों को व्यवस्थित रखने के लिए आधुनिक रेक से सुसज्जित इस लाइब्रेरी को और बेहतर बनाने के लिए वह सदैव तैयार हैं।

4 कक्षों के गेस्ट हाऊस निर्माण की स्वीकृति

         कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने ने बताया कि नगर पालिका कार्यालय के पीछे 4 कमरों के न्यायाधिशों का अलग से गेस्ट हाऊस निर्माण की स्वीकृति दी चुकी है। टेंडर का कार्य शेष है। न्यायाधीशों के परिवारों, आगंतुकों के ठहरने के लिए अब नहीं होगी कोई असुविधा।

         अधिवक्ताओं का स्वास्थ्य शिविर में परीक्षण के दौरान अगर कोई गंभीर बीमारी के प्रकरण जिनका इलाज शिविर में संभव नहीं है, तो उक्त जानकारी उन्हें बताई जाये। उनके द्वारा बेहतर से बेहतर इलाज करवाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। इसके लिए मंडला में आयोजित राहत कैम्प में भी इलाज के लिये भेजा जायेगा।

         कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री दुबे ने कहा कि नरसिंहपुर का न्यायिक इतिहास बहुत शानदार रहा है। प्रदेश लोक सेवा आयोग अध्यक्ष के पदीय कर्तव्यों को निभाने में उन्हें काफी सहयोग इस संघ के सानिध्य में रहकर पूर्व में मिला है।

         जिला पंचायत अध्यक्ष श्री संदीप पटैल ने कहा कि शहर में परिवर्तन की शुरूआत हो चुकी है। शहर को विकसित बनाने के बेहतर से बेहतर प्रयास विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति द्वारा किये जा रहे हैं।

         डॉ. संजीव चांदोरकर ने कार्यक्रम के बारे में बताते हुए कहा कि हमारे खान- पान एवं जीवन शैली में बदलाव के कारण डायबिटीज, हार्ट अटैक जैसी बीमारियों की तादाद बढ़ रही है। इससे बचने के लिए स्वास्थ्य परीक्षण किया जाना आवश्यक है। यहां हर दिन 40 लोगों का परीक्षण किया जायेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला अधिवक्ता संघ अध्यक्ष चौ. जोगेन्द्र सिंह ने कहा कि कुछ समय पूर्व यह निर्णय लिया गया कि स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जाये, ताकि ब्लड प्रेशर, शुगर, हृदय संबंधी जांच की जा सके। तत्पश्चात श्री प्रजापति द्वारा वरिष्ठ अधिवक्ताओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close