नरसिंहपुर

धारा 144 लागू

नरसिंहपुर, 02 नवम्बर 2019. जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के उद्देश्य से जिला दंडाधिकारी श्री दीपक सक्सेना ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार नरसिंहपुर जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा में किसी भी आपत्तिजनक अथवा उत्तेजित करने वाली अथवा धार्मिक भावनों वाले फोटो, चित्र, मैसेज करने या साम्प्रदायिक मैसेज करने या उनकी फॉरवर्डिंग, रिट्वीट, फेसबुक, व्हाटसएप इत्यादि सोशल मीडिया पर करने या इन पर कमेंट करने की गतिविधियों को प्रतिबंधित किया गया है।
यह आदेश नरसिंहपुर जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा क्षेत्र में तत्काल प्रभाव से लागू होगा और एक जनवरी 2020 तक प्रभावशील रहेगा। आदेश के उल्लंघन पर भारतीय दंड विधान की धारा 188 एवं अन्य प्रचलित विधियों के अधीन दंडनीय होगा।
उल्लेखनीय है कि पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रतिवेदन भेजकर जिला दंडाधिकारी को अवगत कराया गया था कि अयोध्या मामले को लेकर माननीय उच्च न्यायालय की संविधान पीठ द्वारा इसी माह नवम्बर- 2019 में निर्णय घोषित किया जाना संभावित है। अत: मामला धर्म विशेष के जनमानस से जुड़ा होने के कारण सांप्रदायिक सौहार्द एवं कानून व्यवस्था की दृष्टि से अति संवेदनशील है। विभिन्‍न साम्प्रदायों के कट्टरपंथी संगठन एवं असामाजिक तत्व संभावित निर्णय को लेकर सोशल मीडिया आदि के माध्यम से धार्मिक भावनाओं वाले मैसेज, फोटोग्राफ्स इत्यादि पोस्ट कर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास कर सकते हैं। इन तथ्यों को ध्यान में रखते हुए जिला दंडाधिकारी द्वारा उक्त आदेश जारी किया गया है।
जारी आदेश में कहा गया है कि कोई भी व्यक्ति, राजनैतिक दल, संस्था आदि किसी भी प्रकार का धरना, प्रदर्शन, जुलूस, रैली एवं कार्यक्रम के आयोजन के पूर्व उसकी लिखित सूचना संबंधित अनुविभागीय दंडाधिकारी को अनिवार्य रूप से देकर लिखित अनुमति प्राप्त करेंगे तथा थाना प्रभारी को इसकी सूचना देंगे। सूचना में धरना, प्रदर्शन, जुलूस, रैली तथा कार्यक्रम का रूट, स्थल में सम्मिलित होने वाले व्यक्तियों/ वाहनों की अनुमानित संख्या का उल्लेख अनिवार्य रूप से किया जाये ताकि तदनुसार आवश्यक पुलिस व्यवस्था की जा सके। अनुविभागीय दंडाधिकारी द्वारा जारी अनुमति में उपरोक्त तथ्यों का स्पष्ट रूप से समावेश किया जायेगा। जारी की जाने वाली अनुमति में धरना प्रदर्शन, जुलूस, रैली एवं कार्यक्रम के रूट/ स्थल में अनुविभागीय दंडाधिकारी शांति व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत आवश्यक संशोधन कर सकेंगे। जारी की जाने वाली अनुमति की प्रति संबंधित थाना प्रभारी तथा यातायात प्रभारी को अनिवार्य रूप से दी जायेगी।
जिले के समस्त अनुविभागीय दंडाधिकारियों का उनके अनुविभाग के अंतर्गत उपरोक्तानुसार अनुमति दिये जाने हेतु अधिकृत किया जाता है।
जारी आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत वैधानिक कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश सर्व साधारण को संबोधित है और वर्तमान परिस्थितियों में सूचना की तामीली सम्यक समय में प्रत्येक व्यक्ति को कर, सुनवाई की जाना संभव नहीं है। अत: दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 की उपधारा (2) के अंतर्गत यह आदेश एक पक्षीय रूप से पारित किया जाता है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close