करेली समाचार

नगरपालिका कर रही भिनके कचरे से स्वागत सिर्फ कागजों में स्वच्छता

करेली। ओल्ड एनएच 26 बरमान रोड पर धमनी पुल के पास मुक्तिधाम के सामने नगर पालिका की सीमा प्रारम्भ होते ही लगे स्वागत द्वार से लगा भीषण गंदगी एवँ कचड़े का अम्बार है जिससे निकलने वाली सड़ी बदबू शहर में प्रवेश करने वालों को यह सोचने पर मजबूर कर देती है कि ये किस तरह का स्वागत किया जा रहा है करेली नगरपालिका परिषद द्वारा एक तरफ तो देश में स्वच्छता अभियान चल रहा है जिसके तहत शासन प्रशासन द्वारा स्वच्छता के लिए तमाम तरह की कवायदें की जा रही हैं वहीं दूसरी ओर शहर के स्वागत द्वार पर ही ऐंसी गन्दगी फैली रहती है। इस समस्या के समाचार प्रकाशित होने पर नपा द्वारा जगह न होने के बावजूद भी जेसीबी मशीन से कचरा गेट के अन्दर ठूस दिया जाता जो की कुछ ही दिनों में फिर बाहर सड़क तक आ जाता है| अब स्थिति और बदत्तर हो गई है, कचरा व गंदगी सड़क तक आ गई है एवं बारिश का पानी मिलने से यहाँ सड़ांध उठने लगी है| जिसके कारण लोग नगर में प्रवेश करते ही नाक बंद करने को मजबूर हो जाते हैं|
गौरतलब हो कि नगरपालिका द्वारा 15 वार्डों से डोर टू डोर रिक्शे से इकठ्ठा किया किया गया कचरा सहित शहर के विभिन्न स्थानों से ट्राली के माध्यम से लाया गया नालियों व नाले की गंदगी एवँ अन्य कचरा फैंकने के लिये मुक्तिधाम के सामने अस्थाई डंपिंग ग्राउंड बनाया गया है। जहाँ विगत कई वर्षों से कचरा एवँ गन्दगी डाली जा रही है जिसके कारण वहाँ कचरे एवँ गन्दगी का अम्बार लगा है। यह अस्थाई ग्राउंड कचरे व गन्दगी से पूर्ण रूप से भर चुका जिसमें नगरपालिका के द्वारा जगह बना बना कर कचरा ठूंसा जा रहा है। परिणामस्वरूप यह गन्दगी व कचरा रोड तक फैल रहा है जिससे राहगीरों को तो परेशानी हो ही रही है सांथ ही यहां के रहवासियों को खासी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। यहाँ पर प्रतिष्ठान चलाने वाले एवँ रहवासियों का कहना है कि अस्थाई डंपिंग ग्राउंड के गेट से बाहर सड़क तक फैली गंदगी इतनी बुरी तरह सड़ांध मार रही है की यहाँ थोड़ी देर रुकना भी दूभर हो जाता है। गंदगी से उठने वाली तीक्ष्ण बदबू केकारण यहाँ के रहवासियों को श्वास व एलर्जी सम्बन्धी बीमारियां होने लगी हैं। उस पर सुअरों एवं आवारा मवेशियों की धमाचौकड़ी से गंदगी और चारों तरफ फैल रही है जिसके कारण संक्रामक बीमारियों का खतरा बना हुआ है। इनका कहना है बरसात के कारण यह समस्या और भी विकराल हो गई है| इसलिए जिम्मेदारों को शीघ्रता से शहर से बाहर गैररिहायसी स्थान पर स्थाई कचरा घर की व्यवस्था करनी चाहिए| इस समस्या से निजात पाने के लिए यहाँ के नागरिक अनेक बार नगरपालिका से गुहार लगा चुके हैं पर इनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ज्ञात हो की सभी खद्दरधारी जनप्रतिनिधियों सहित जिले के आला अधिकारी अनेक मर्तबा सड़क तक फैले इसी कचरे व गंदगी के बीच से होकर गुजरते हैं लेकिन न तो इनको यह कचरे का पहाड़ नजर आता है और ना ही इस जनसमस्या के निराकरण के लिए कोई गम्भीर प्रयास किये जा रहे हैं इसलिए लम्बे समय से यह समस्या जस के तस बनी हुई है और आसपास के रहवासी करेली नगरपालिका की बदौलत नारकीय जीवन जीने मजबूर हैं
शैलेन्द्र बिल्थरे
संवाददाता करेली

Tags

Related Articles

Back to top button
Close