नरसिंहपुर

जिले में स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्‍लास, गरिमा एवं उत्साह से मनाया गया

नरसिंहपुर के मुख्य समारोह में विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने किया ध्वजारोहण

नरसिंहपुर, 15 अगस्त 2019. नरसिंहपुर जिले में स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास, गरिमा एवं उत्साह से मनाया गया। जिला मुख्यालय के स्टेडियम ग्राउन्ड पर आयोजित मुख्य समारोह में मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने ध्वजारोहण किया। इसके पश्‍चात श्री प्रजापति ने समृद्धि के प्रतीक रंगीन गुब्बारों को आकाश में छोड़ा।

         इस अवसर पर बैंड द्वारा जन- गण- मन की धुन प्रस्तुत की गई। परेड कमाण्डर द्वारा प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के पश्चात विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने कलेक्टर श्री दीपक सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह के साथ परेड का निरीक्षण किया। तत्पश्चात उन्होंने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के संदेश का वाचन किया। संदेश में देश के स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों, देश की सीमा पर लड़ाई लड़ रहे देश के जवान, देश की रक्षा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले जवानों का पुण्य स्मरण किया गया। मुख्यमंत्री के संदेश में स्वतंत्रता दिवस पर प्रदेश के सभी नागरिकों को हार्दिक शुभकामनायें दी गर्इं और राज्य सरकार की प्राथमिकताओं, जनकल्याणकारी योजनाओं एवं विकास से जुड़ी गतिविधियों से अवगत कराया गया।

         मुख्यमंत्री के संदेश में कहा गया कि हमारी सरकार ने सबसे पहले जनता से चुनाव पूर्व किये गये वादे अनुसार किसानों की ऋण माफी का कार्य किया और जय किसान फसल ऋण माफी योजना लेकर आये। योजना के प्रथम चरण में हमने 20 लाख 10 हजार किसानों के 50 हजार रूपये तक के चालू ऋण और दो लाख रूपये तक के डिफाल्टर ऋण को माफ करने का कार्य किया। पिछले कुछ वर्षों से निराश्रित गौवंश की देखरेख एक बड़ी समस्या बनती जा रही है। हमारी सरकार ने इसे चुनौती के रूप में लिया है। इनकी देखरेख होती रहे, इसके लिए सरकार ने प्रदेश में पहली बार एक हजार गौशालाओं के निर्माण का कार्य अपने हाथ में लिया है।

         शहरी बेरोजगारों को रोजगार और कौशल विकास के लिए मुख्यमंत्री स्वाभिमान योजना हमने शुरू की है। हम यह भी कानून बनाने जा रहे हैं कि प्रदेश की औद्योगिक इकाईयों को 70 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के लोगों को ही देना पड़ेगा। हमारी योजना हर जिले में कम से कम एक औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने की है। हमने 36 जिलों की 38 नदियों को चुना है, जिनके पुनर्जीवन का कार्य आने वाले पांच सालों में लिया जायेगा।

         हमारी सरकार ने गरीबों के आवास के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में अलग- अलग आवास योजनायें चला रखी हैं। इन योजनाओं में पात्र भूमिहीन आवेदकों को राज्य सरकार आवास के साथ- साथ अपनी तरफ से भूमि के पट्टे भी देगी। इसके लिए मुख्यमंत्री पट्टा योजना के नाम से योजना चलाई जायेगी। राज्य सरकार नागरिकों को स्वास्थ्य का अधिकार देने के लिए कानून बनाने जा रही है।

          राज्य सरकार अनुसूचित जनजातियों के विकास के लिए संकल्पबद्ध है। हमारे आदिवासी भाईयों की एक बड़ी समस्या साहूकारी ऋण है, जो उन्हें इतने अधिक ब्याज दरों पर मिलता है कि पूरी जिंदगी ब्याज ही पटाते रहते हैं और ऋण वैसा का वैसा ही रहता है। राज्य सरकार ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए सभी आदिवासी विकासखंडों में आदिवासी भाईयों के ऊपर ऐसे सभी साहूकारी ऋणों को आज से समाप्त घोषित करने का निर्णय लिया है। ऐसे किसी भी ऋण की वसूली अब नहीं हो सकेगी। इसे लागू करने के लिए कलेक्टरों को सख्त निर्देश दिये जा रहे हैं। आदिवासी भाईयों को पैसे की अचानक आवश्यकता को ध्यान में रखकर बैंकों से 10 हजार रूपये तक की लिमिट स्वीकृत की जा रही है, जो वे अपने डेबिट कार्ड से कभी भी एटीएम से निकाल सकेंगे। सभी आदिवासी विकासखंडों के ग्रामीण हाट बाजारों में बैंक एटीएम स्थापना परियोजना की प्रक्रिया अंतिम चरण में है।

          प्रशासन को चुस्त बनाना हमारी सरकार का मुख्य लक्ष्य है। गांवों तक शासन और प्रशासन की पहुंच के लिए इसी माह से आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसमें ग्रामीण आबादी की रोजमर्रा की समस्याओं का निराकरण एवं आवश्यकताओं की पूर्ति विकासखंड मुख्यालयों अथवा बड़े ग्रामों में शिविर लगाकर मौके पर किया जा रहा है।

         विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति द्वारा मुख्यमंत्री के संदेश के वाचन के पश्चात परेड दलों द्वारा जयघोष एवं हर्षफायर किया गया। समारोह में विशेष सशस्त्र बल 6 वीं बटालियन, जिला पुलिस बल, जिला महिला पुलिस बल, जिला होमगार्ड बल, एनसीसी सीनियर डिवीजन वॉयज एवं गर्ल्स एमआईएमटी कॉलेज, एनसीसी वॉयज जूनियर डिवीजन सरस्वती हायर सेकेंडरी स्कूल एवं उत्कृष्ट विद्यालय, रेडक्रास गर्ल्स शासकीय एमएलबी कउमावि, एनएसएस बालक उत्कृष्ट विद्यालय, स्काउट गाइड गर्ल्स शासकीय एमएलबी कउमावि के छात्र- छात्राओं, जिला महिला शक्तिकरण व महिला एवं बाल विकास विभाग का शौर्या दल और जिला कोटवार दल के विभिन्न 13 दलों के सदस्यों की संयुक्त परेड द्वारा आकर्षक मार्चपास्ट प्रस्तुत किया गया। तत्पश्चात मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने परेड कमांडरों से परिचय प्राप्त किया। इस मौके पर मध्यप्रदेश गान हुआ। विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने कारगिल शहीद के परिजन को शाल एवं श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।

          स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में उत्कृष्ट परेड के लिए जिला पुलिस बल और छात्र दल में एनसीसी सीनियर डिवीजन वॉयज एमआईएमटी कॉलेज को प्रथम पुरस्कार दिया गया। साथ ही मार्चपास्ट में बैंड दल के सहयोग के लिए चावरा विद्यापीठ को पुरस्कृत किया गया।

         मुख्य समारोह में विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 98 अधिकारी- कर्मचारियों, व्यक्तियों, छात्र- छात्राओं को प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह, शील्ड आदि देकर पुरस्कृत किया। कार्यक्रम का संचालन संजय चौबे, दीपक अग्निहोत्री और विभा दुबे ने किया।

         इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश आरके नागपुरे, विधायक श्री जालम सिंह पटैल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री संदीप पटैल, पूर्व विधायक श्री विनय शंकर दुबे एवं श्री सुनील जायसवाल, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री मैथिलीशरण तिवारी, चौ. चंद्रेशखर साहू, जिला अधिवक्‍ता संघ के अध्यक्ष चौ. जोगेन्द्र सिंह, डॉ. संजीव चांदोरकर, श्री प्रीतिराज प्रजापति, श्री नारायण सिंह पटैल, अपर कलेक्टर श्री मनोज ठाकुर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री केके भार्गव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री राजेश तिवारी, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी महेश कुमार बमनहा, अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी, पार्षद एवं पत्रकारगण, गणमान्य नागरिक एवं विभिन्न विद्यालयों के छात्र- छात्रायें और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close