भोपाल

ईदुल अज़हा के मौके पर अनेक स्थानों पर होंगी कुर्बानियां

भोपाल/ईदुल अज़हा के मौके पर राजधानी भोपाल में अनेक स्थानों पर होंगी सामूहिक कुरबानियाँ
डेढ़ सौ से अधिक स्थानों पर दस लाख से अधिक मुसलमान पढ़ेंगे नमाज़, राज भवन, विधानसभा भवन एवं वल्लभ भवन की मस्जिदों में नहीं होगी ईद की नमाज़ें, सेन्ट्रल जेल में होगा ईद की विशेष नमाज़ का इंतेज़ाम, मुस्लिम धर्मावलम्बी करेंगे खुशहाली की दुआ
भोपाल! अल्लाह पाक की ज़ानिब से दुनियां में भेजे गये इस्लाम के प्रवर्तक पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद (स.अ.व.) साहेब के ज़रिये स्थापित ईद-उल- अज़हा का पवित्र त्यौहार पैग़म्बर हज़रत इस्माईल (अ.स.) की कुर्बानी की यादग़ार के रूप में देश भर में आॅल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के चैयरमेन क़ायद-ए-मिल्लत, पीरज़ादा, अलहाज़ डाॅ. औसाफ़ शाहमीरी खुर्रम साहब की क़यादत में इस बार भी अक़ीदत के साथ देश के करोड़ों मुसलमान मनाऐंगे। इस अवसर पर भोपाल में भी लाखों मुस्लिम धर्मावलम्बी ईद की विशेष नमाज़ अदा करने सहित हलाल जानवरों की कुर्बानियाँ करेंगे, विकलांगों, ग़रीबों, मोहताज़ों को ख़ैर ख़ैरात बांटेंगे, तथा कब्रस्तानों में जाकर अपने बुजुर्गों पूर्वजों की कब्रों पर दरूदख़्वानी, फ़ातिहाख़्वानी करेंगे तथा देश में खुशहाली की दुआएॅं की जायेंगी।
आॅल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के महासचिव क़ाज़ी सैय्यद अनस अली ने जानकारी देते हुए बताया कि राजधानी की सभी प्रमुख मस्जिदों, मैदानों सहित अनेक मोहल्लों, काॅलोनियों में लगभग डेढ़ सौ से अधिक स्थानों पर ईद-उल-अज़हा की विशेष नमाज़ अदा की जायेगी। राज भवन, विधानसभा भवन एवं वल्लभ भवन की मस्जिदों में ईद की विशेष नमाज़ नहीं होगी। जबकि सेन्ट्रल जेल भोपाल में ईद की विशेष नमाज़ का इंतेज़ाम किया गया है। ज़िला प्रशासन ने शहर के विभिन्न मोहल्लों, काॅलोनियों, मे 42 स्थानों पर अस्थाई कुरबानग़ाह नगर निगम के माध्यम से बनाये गये हैं, जहाॅं छोटे-बड़े हलाल जानवरों की कुरबानियाॅं तीनों दिन होगी तथा साफ़ सफाई एवं पानी की नगर निगम व्यवस्था करेगी।
इस्लामिक चिंतक क़ायद-ए-मिल्लत पीरज़ादा हज़रत डाॅ0 औसाफ़ शाहमीरी खुर्रम मियाॅं चिश्ती साहब ने ईद-उल-अज़हा के मौके़ पर ईद की दिली मुबारक़बाद देते हुए अपने संदेश में कहा है कि ईद-उल-अज़हा विश्व भर में मनाया जाने वाला प्रमुख त्यौहार है। इस त्यौहार की विशेषता यह है कि केवल इसी ईद पर साल भर में एक बार लाखों मुसलमान सउदिया अरब स्थित मक्का शरीफ़ में ”हज“ के अरकान को सामूहिक रूप से अदा करते हैं।
हज़रत डाॅ. औसाफ़ शाहमीरी खुर्रम साहब ने कहा कि ईद-उल-अज़हा इसलिए भी अक़ीदत के साथ मनाई जाती है, क्योंकि अब से चार हज़ार साल पूर्व जब इस्लाम के प्रवर्तक पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद (स.अ.व.) के पूर्वज हज़रत इब्राहीम (अ.स.) ने अल्लाह पाक का हुक्म पूरा करने के लिये अपने चहीते बेटे इस्माईल (अ.स.) की कुर्बानी की थी, मग़र उनकी जगह कुदरत ने एक दुमबे (भेड़) को कुर्बान करवा दिया। अल्लाह पाक को हज़रत इब्राहीम (अ.स.) के ज़रिये की गई अपने बेटे हज़रत इस्माईल (अ.स.) की कुर्बानी करने की भूमिका और अदा इतनी पसंद आई कि अल्लाह पाक ने क़यामत तक के लिये सारी दुनियां के साहिबे हैसियत धनवान मुसलमानों के लिए इस कुर्बानी को फ़र्ज़ और लाज़िम कर दिया है।
श्री क़ाज़ी सैय्यद अनस अली ने बताया कि राजधानी भोपाल में भी विश्व भर की भांति 12 अगस्त, 2019 को ईद-उल-अज़हा का त्यौहार परम्परागत ढंग से मनाया जाएगा। इसके तहत ईदग़ाह में प्रातः 7.00 बजे शहर की जामा मस्जिद में 7.30 बजे और ताज-उल-मसाजिद में 7.45 बजे एवं मोती मस्जिद में 8.00 बजे नमाज़ अदा की जाएगी।
उन्होंने बताया कि इन चार बड़ी मस्जिदों के अलावा सिकंदरिया ग्राउण्ड जहांगीरबाद, मस्जिद बिलकिस जहाॅं, आरिफ़ नगर, सक़लैनी जामा मस्जिद अशोका गार्डन, जामा मस्जिद गाॅंधी नगर, जामा मस्जिद गोंदरमऊ, मस्जिद ख़्वाजा ग़रीब नवाज़, मस्जिद बिस्मिल्लाह काॅलोनी, मस्जिद सराय सिकन्दरी स्टेशन, जामा मस्जिद पिपलानी भेल, जामा मस्जिद आलम नगर भेल, मस्जिद रसूल-आबाद रूसल्ली, मस्जिद करोद, जामा मस्जिद कैम्प नं. 12 बैरागढ़, मस्जिद नबी बाग़, मस्जिद ईटखेड़ी, मस्जिद इस्लाम नगर और दरग़ाह शरीफ़ हज़रत बाबा कलन्दर शाह जलाली प्रेस काम्पलेक्स, इक़बाल मैदान, मस्जिद अहल-ए-हदीस एवं मस्जिद लियाक़त मार्केट कबाड़ख़ाना, इमामबाड़ा दरबार-ए-हुसैनी फ़तेहगढ़, इमामबाड़ा, इरानियान स्टेशन, दरग़ाह अब्बास अलमदार हथाईखेड़ा, शिया जामा मस्जिद, आॅल-ए-मोहम्मद करोद, सुन्नी मस्जिद अब्बास नगर गोंदरमऊ, मस्जिद माॅडल ग्राउण्ड, मस्जिद जनता नगर 1100 क्वार्टर, मस्जिद मिसरोद रोड, मस्जिद बाग़ सेवनियाॅं, मस्जिद अहमदपुर, मस्जिद फ़ैज़ एयरपोर्ट रोड, नूर-उल मस्जिद रिवेरा टाउन तथा जामा मस्जिद टी. टी. नगर, मस्जिद सोनागिरी, मस्जिद फ़रहतअफ़ज़ा मस्जिद बाग़ उमराव दूल्हा, मस्जिद ऐशबाग़, जामा मस्जिद इनायतपुर कोलार, ईदग़ाह मण्डीदीप, ईदग़ाह बैरसिया सहित जामा मस्जिद बैरागढ़ चीचली, मस्जिद भदभदा रोड, मस्जिद शिवशंकर नगर – चार इमली, जाम मस्जिद सूखी सेवनियां, मस्जिद शिवाजी नगर, जामा मस्जिद पिपलिया ज़ाहिर पीर, जामा मस्जिद गोविन्दपुरा अन्ना नगर, जामा मस्जिद गेहूखेड़ा, मस्जिद हबीबगंज, मस्जिद शाहपुरा, मस्जिद लाम्बाखेड़ा, मस्जिद रिज़र्व बैंक, मस्जिद बरखेड़ा पठानी, जामा मस्जिद चांदबड़ सहित 150 से अधिक स्थानों पर भी सुबह 7.30 बजे से 9.00 बजे के दरम्यिान ईद की नमाज़ की व्यवस्था होगी। उसके बाद हलाल जानवरों की परम्परागत कुर्बानियाॅं शुरू होंगी, जो तीन दिनों तक होती रहेगी।
आॅल इण्डिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी ने सभी देशवासियों से ईद-उल-अज़हा का पवित्र त्यौहार सद्भावनापूर्वक परम्परागत तरीके़ से माने की अपील करते हुए कहा कि इस त्यौहार पर सभी देशवासियों को मुसलमानों के साथ मिलकर भाईचार और एकता की गंगा जमुनी रिवायत को आगे बढ़ाना चाहिए।
(क़ाज़ी सैय्यद अनस अली)
महासचिव – मध्यप्रदेश

Tags

Related Articles

Back to top button
Close