नरसिंहपुर

ग्राम कपूरी में कमिश्‍नर श्री बहुगुणा ने किया समन्वित कृषि का अवलोकन

नरसिंहपुर04 अगस्त 2019. कमिश्‍नर जबलपुर संभाग श्री राजेश बहुगुणा ने जिले की करेली तहसील के ग्राम कपूरी में खेत में जाकर समन्वित कृषि से संबंधित कार्यों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने किसानों से चर्चा की और उन्हें समन्वित खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया।

         इस अवसर पर कलेक्टर श्री दीपक सक्सेना, संयुक्‍त आयुक्‍त जबलपुर श्री अरविंद यादव, सीईओ जिला पंचायत केके भार्गव, अनुविभागीय राजस्व अधिकारी श्री महेश कुमार बमनहा, उप संचालक कृषि राजेश त्रिपाठी, सहायक मिट्टी परीक्षण अधिकारी डॉ. आरएन पटैल, कृषि वैज्ञानिक डॉ. आशुतोष शर्मा, तहसीलदार आरके मेहरा, अन्य अधिकारी, किसान और ग्रामीणजन मौजूद थे।

         कमिश्‍नर श्री बहुगुणा ने किसानों से चर्चा करते हुए बताया कि समन्वित खेती के माध्यम से कृषि की जोखिम कम करके आय बढ़ाई जा सकती है। यह परम्परागत खेती ही है। इसमें विविधता रहती है। समन्वित खेती में तीन, चार या अधिक फसलें ली जा सकती है। कृषि के साथ पशुपालन, उद्यानिकी, मछली पालन आदि को जोड़ा जा सकता है। यह टिकाऊ खेती है। फसलों में विविधता होने के कारण यदि एक फसल खराब हो जाये, तो दूसरी फसल या खेती से जुड़ी अन्य गतिविधि से लाभ लिया जा सकता है। श्री बहुगुणा ने किसानों को समन्वित खेती के फायदों से अवगत कराने पर जोर दिया।

रोपा अमरूद का पौधा

         कमिश्‍नर ने कृषक मिथलेश जाट के खेत में बनाये गये तालाब का अवलोकन किया। उन्होंने खेत की मेढ़ पर अमरूद का पौधा भी रोपा। कृषक मिथलेश जाट ने बताया कि उन्होंने 53 फीट गुणा 35 फीट में खेत में तालाब बनाया है। बरसात में तालाब में 6 से 7 फुट पानी भर गया है। खेत में मछली के बीज भी डाले हैं। उन्होंने खेत में एक कुंआ बनाया था, जिसमें पानी नहीं आ रहा था। तालाब बन जाने के बाद कुंये में पानी आ गया है और उनका ट्यूबवेल भी रिचार्ज हो गया है। श्री जाट ने बताया कि उन्होंने अपने खेत में मक्‍का, धान, अरहर, उड़द एवं गन्‍ना की फसलें लगाई हैं। वे गुलाब की खेती भी कर रहे हैं। खेत की मेढ़ों पर अमरूद, खमेर व बांस के पौधों का रोपण भी किया जा रहा है।

         कृषि विज्ञान केन्द्र के डॉ. शर्मा ने बताया कि कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा खेतों की मेढ़ पर लगाने के लिए कृषक श्री जाट को अमरूद, खमेर व बांस के पौधे नि:शुल्‍क प्रदाय किये गये हैं। श्री जाट के खेत में समन्वित कृषि का मॉडल तैयार किया जायेगा।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close