नरसिंहपुर

मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया से बचाव के लिए मच्छरों की पैदावार रोकना जरूरी

नरसिंहपुर21 जुलाई 2019. मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया से बचाव के लिए मच्छरों की पैदावार एवं फैलाव को रोकना जरूरी है। मच्छरों के काटने से बचकर एवं मच्छरों की पैदावार को रोककर इन रोगों से बचा जा सकता है। यह सलाह जिला मलेरिया अधिकारी नरसिंहपुर ने दी है। उन्होंने बताया कि जुलाई माह को प्रतिवर्ष डेंगू निरोधक माह के रूप में मनाया जाता है।

         उल्‍लेखनीय है कि डेंगू से बचाव के लिए इसके वाहक एडीज मच्छर की पैदावार को रोकना जरूरी है। मच्छर के काटने से बचने एवं इसके फैलाव को रोकने की सलाह लोगों को दी गई है। लोगों को बताया गया है कि एडीज मच्छर साफ पानी में होता है। टंकी, कूलर, ड्रम, मटका, फूलदान, टायलेट की टंकी, छत पर रखे अनुपयोगी सामान, टायर, अनुपयोगी कंटेनरों आदि में एडीज मच्छर पैदा होता है। इसके लिए टंकी आदि को ढंक कर रखने की सलाह दी गई है, जिससे मच्छर इसमें प्रवेश कर अंडे नहीं दे सकें। नालियो, गटर एवं छत पर जमा पानी की निकासी सुनिश्चित करें। इस तरह जमे हुये पानी में जला आयल या केरोसिन डालें। सलाह दी गई है कि कूलर की नियमित सफाई करें। पानी का संचय 7 दिवस से अधिक अवधि के लिए नहीं करें। एडीज मच्छर दिन में काटता है। इससे बचने के लिए पूरी बांह के कपड़े पहनें। मच्छरों से बचाव के लिए सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें।

         डेंगू के मुख्य लक्षण तेज बुखार, सिर दर्द, आंखो के पीछे दर्द, जोड़ों एवं शरीर में दर्द, शरीर पर दाने निकलना आदि हैं। ये लक्षण होने पर तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें। डेंगू एवं चिकुनगुनिया का कोई विशिष्ट उपचार नहीं है, केवल लक्षण आधारित उपचार किया जाता है। लोगों से कहा गया है कि वे स्वयं किसी प्रकार का उपचार नहीं लें, उपचार के लिए डॉक्टर से सम्पर्क करें। अधिकांश मामलों में डेंगू एक सप्ताह में ठीक हो जाता है। कुछ मामलों में यह गंभीर भी हो सकता है। मच्छरों से बचाव एवं उनकी पैदावार को रोककर मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया से बचा जा सकता है।

         जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया कि जिले में डेंगू निरोधक माह के दौरान लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए विभिन्‍न गतिविधियां संचालित की जा रही हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close