नरसिंहपुर

स्वरोजगार संबंधी हाथकरघा विभाग की योजनाओं का लाभ लें

नरसिंहपुर08 जुलाई 2019. कुटीर एवं ग्रामोद्योग के अंतर्गत राज्य शासन के हाथकरघा विभाग द्वारा स्वरोजगार संबंधी विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनायें संचालित की जा रही हैं। इस विभाग द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना व मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के अंतर्गत समाज के सभी वर्गों के लिए स्वयं का उद्योग स्थापित करने, विनिर्माण और सेवा क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराया जाता है। स्वरोजगार संबंधी योजनाओं का लाभ लेने के लिए इच्छुक व्यक्ति जिला पंचायत कार्यालय नरसिंहपुर में स्थित हाथकरघा शाखा में कार्यालयीन समय में सम्पर्क कर सकते हैं और यहां से विस्तृत जानकारी लेकर योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

         इस सिलसिले में हाथकरघा विभाग के प्रभारी अधिकारी विनायक सिंह मार्को से मोबाइल नम्बर 9826291060 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

         हाथकरघा विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में परियोजना लागत 50हजार रूपये से अधिकतम 10 लाख रूपये तक है। इसमें सामान्य वर्ग के लिए मार्जिन मनी, अनुदान राशि परियोजना लागत की 15 प्रतिशत, परंतु अधिकतम एक लाख रूपये है। यह बीपीएल, अनुसूचित जाति- जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, महिला अल्पसंख्यक व नि:शक्तजन के लिए 30 प्रतिशत, परंतु अधिकतम दो लाख रूपये होगी। परियोजना लागत की शेष राशि बैंक, वित्तीय संस्थान से ऋण के रूप में स्वीकृत कराई जायेगी।

         इकाई स्थापित होने के बाद संतोषजनक कार्य पाये जाने पर कार्यशील इकाईयों को पात्रता के अनुसार ब्याज राशि पर प्रतिवर्ष 5 प्रतिशत की दर से अधिकतम 25 हजार रूपये तक ब्याज अनुदान देय होगा। इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को मध्यप्रदेश का मूल निवासी और न्यूनतम 8 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिये। आवेदक की आयु 18 से 45वर्ष के बीच होनी चाहिये।

         मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना में निर्माण एवं सेवा क्षेत्र की इकाईयों को परियोजना लागत की राशि अधिकतम 50 हजार रूपये तक का लाभ दिये जाने का प्रावधान है, जिसमें अधिकतम अनुदान की राशि 15 हजार रूपये निर्धारित है। इस योजना में आवेदक का बीपीएल कार्डधारी होना जरूरी है, परंतु शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता नहीं है।

माटीकला बोर्ड

         माटीकला बोर्ड के अंतर्गत मिट्टी से संबंधित कार्य करने वाले कुम्हारों, कारीगरों व परम्परागत कारीगरों या प्रशिक्षित उद्यमी के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना संचालित की जा रही है। इसमें परियोजना इकाई की लागत अधिकतम 10 लाख रूपये हो सकती है। इस योजना में 30 प्रतिशत राशि मार्जिन मनी, अनुदान के रूप में देय होगी।

         उक्त योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदक एमपी ऑनलाइन अथवा कियोस्क सेंटर से आवेदन कर सकते हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close