नरसिंहपुर

रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन व भंडारण को सख्ती से रोका जायेगा

गाडरवारा के रेत भंडारण अनुज्ञप्तिधारकों की बैठक सम्पन्‍न

नरसिंहपुर08 जुलाई 2019. कलेक्टर दीपक सक्सेना की अध्यक्षता में अधिकारियों और गाडरवारा विधानसभा क्षेत्र के रेत भंडारण अनुज्ञप्तिधारकों की बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सोमवार को सम्पन्‍न हुई। बैठक में रेत के अवैध उत्खनन, भंडारण और परिवहन पर अंकुश लगाने के उपायों पर विचार- विमर्श कर सुझाव लिये गये और सर्वसम्मति से महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये। कलेक्टर ने कहा कि राज्य शासन की मंशा के अनुरूप जिले में रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन व भंडारण को सख्ती से रोका जायेगा। इसके लिए कलेक्टर ने निर्देशित किया कि संबंधित एसडीएम, एसडीओपी और पूरी टीम लगातार क्षेत्र का भ्रमण कर आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करे। उन्होंने रेत उत्खनन, परिवहन व भंडारण के कार्य में पूर्ण पारदर्शिता बरते जाने पर जोर दिया।

         बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह, अपर कलेक्टर मनोज ठाकुर, अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक राजेश तिवारी, एसडीएम राजेश शाह व आरएस राजपूत, एसडीओपी एसआर यादव, जिला खनिज अधिकारी रमेश पटैल, ईई आरईएस एमएल सूत्रकार, अतिरिक्‍त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत प्रभात उईके, संबंधित तहसीलदार, नायब तहसीलदार, थाना प्रभारी (टीआई), संबंधित जनपदों के सीईओ और गाडरवारा विधानसभा क्षेत्र के रेत भंडारण अनुज्ञप्तिधारी मौजूद थे।

रेत भंडारण की सीसीटीव्ही से होगी निगरानी

         बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि अनुज्ञप्तिधारियों के रेत भंडारण क्षेत्र की फेंसिंग की जायेगी। रेत भंडारण गोदाम के बाहर बड़े साईज का बोर्ड लगाया जायेगा और ऑफिस बनाया जायेगा। रेत भंडारण क्षेत्र की निगरानी के लिए इंटरनेटयुक्‍त सीसीटीव्ही कैमरे लगाये जायेंगे। भंडारित रेत की पंजी संधारित की जायेगी। ऑनलाइन स्टाक पंजी का पेज हर दिन निकालकर ऑफिस में रखा जायेगा। ईटीपी अपरान्ह 4 बजे के बाद जनरेट नहीं की जायेगी। रायल्टी देकर जिले के बाहर रेत भरकर ले जाने वाले वाहन रात्रि 8 बजे के बाद जिले में नहीं रहना चाहिये। रायल्टी वाली रेत से भरे वाहन जैसे ही भंडारण क्षेत्र से बाहर जायें, तो उसकी फोटो लेकर वाटसएप ग्रुप पर पोस्ट की जायेगी। इसके लिए अनुज्ञप्तिधारियों और संबंधित अधिकारियों का वाटसएप ग्रुप बनाया जायेगा। यदि रेत से भरा वाहन बिगड़ जाता है, तो तत्काल इसकी सूचना दी जायेगी और वाटसएप ग्रुप पर भी डाला जायेगा।

         कलेक्टर दीपक सक्सेना ने ईई आरईएस व जनपदों के सीईओ से प्रधानमंत्री आवास, शासकीय भवन एवं सड़क और व्यक्तिगत शौचालय निर्माण के लिए रेत की आवश्यकता के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि इन निर्माण कार्यों के लिए रेत के अवैध भंडारण में से रेत उपलब्ध कराई जायेगी। इसके लिए कलेक्टर ने संबंधित ग्राम पंचायतों के लिए आवश्यक रेत का चार्ट तैयार करने के निर्देश ईई आरईएस को दिये। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों के लिए आवश्यक रेत नियत समयावधि में उठाना होगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close