नरसिंहपुर

असुरक्षित हैं बेटियां

शर्मसार नरसिंहपुर जिला..
वरिष्ठ पत्रकार आशीष अग्रवाल की कलम से

जिले में इन दिनों नाबालिग बच्चियों, किशोरियों के साथ ज्यादती, प्रताड़ना के मामलों की बाढ़ सी आई है। लगातार इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं और व्यवस्था को शर्मसार कर रहे हैं। आखिर क्यों ऐसे मामलों की फेहरिस्त सी बनती जा रही है। अमूमन देखने में आता है कि बेटियों की प्रताड़ना के मामलों में थानों के रवैये टालमटोल के रहे हैं और परिजनों को निराशा ही देते हैं। एक तरफ बदनामी का डर, दूसरी तरफ व्यवस्था गत रवैया इन मामलों में दरिंदों को शह देता रहा है। राजनीति दलों और जनप्रतिनिधियों का भी इन मामलों में बेहद दुर्भाग्यपूर्ण रवैया है। कैंडल जलाकर एक दूसरे दल का विरोध मात्र राजनीति का दस्तूर है। महिला अधिकार संगठन भी या तो सियासी छांव में है या घरों में दुबके बैठे हैं।

यह सब दुर्भाग्यपूर्ण है और जिले के जनप्रतिनिधियों एवं आला अधिकारियों को इस दिशा में मजबूत इच्छा शक्ति के साथ काम करना होगा। अन्यथा यह दरिंदगी बढ़ती ही जाएगी। जनप्रतिनिधि गण भी इससे मुंह नहीं मोड़ सकते और शर्मसार होते नरसिंहपुर जिले के लिए उन्हें भी आगे आकर हस्तक्षेप करना होगा व इस दिशा में ठोस कदम उठाने होंगे..

आखिर कब तक बेटियां दरिंदगी का शिकार होती रहेंगी.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close