राष्ट्रीय

जाकिर नाईक का प्रत्यर्पण संभव, भारत ने मलेशिया से फिर की मांग

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण को लेकर भारत सरकार ने एक बार फिर मलेशिया की सरकार से मांग की है.

इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. जाकिर नाईक ने अभी मलेशिया में शरण ली हुई है. भारत सरकार ने ऐसे में मलेशिया की सरकार से जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण की औपचारिक मांग की है. विदेश मंत्रालय का कहना है कि भारत इस मामले को आगे भी मलेशिया के सामने उठाता रहेगा.

जाकिर नाईक ने कहा था भारत उसे व्यापक तौर पर फंसा रहा

जाकिर नाईक ने भी कुछ समय पहले कहा था कि भारत सरकार प्रवर्तन निदेशालय पर विवादित इस्लामिक उपदेशक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किए जाने का दबाव बना रही है. उसने यह भी कहा था कि भारत सरकार उसे व्यापक तौर पर फंसाने की कोशिश कर रही है. उसने यह दावा भी किया था कि उसके खिलाफ न रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ है और न होगा. बता दें कि जाकिर नाईक ने 2016 में भारत छोड़ दिया था.

दिसंबर, 2016 में नाईक पर दर्ज हुआ था मनीलॉन्ड्रिंग का मुकदमा

भारत में ईडी ने जाकिर नाईक और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में चार्जशीट दायर कर दी है. इससे पहले ईडी ने जाकिर नाईक के खिलाफ 22 दिसंबर, 2016 में नाईक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था.

इससे पहले ईडी ने नाईक की 16.40 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली थी.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close