जिला समाचार

जिले में डेयरी और गोदाम निर्माण को बढ़ावा दिया जावे- कलेक्टर

कलेक्टर ने ली जिला स्तरीय समीक्षा समन्वय समिति की बैठक

नरसिंहपुर, 03 जून2019.अग्रणी सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया के तत्वावधान में जिला स्तरीय समीक्षा एवं समन्वय समिति- डीएलसीसी की बैठक कलेक्टर दीपक सक्सेना की अध्यक्षता में जिला पंचायत के सभाकक्ष में सोमवार को सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने शासन द्वारा प्रायोजित स्वरोजगार एवं हितग्राहीमूलक योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।

कलेक्टर ने कहा कि जिले में होने वाले खाद्यान्‍न उत्पादन के मुकाबले जिले की गोदामों की भंडारण क्षमता काफी कम है। जिले में डेयरी और गोदाम निर्माण के क्षेत्र में बहुत संभावना है। जिले में डेयरी और गोदाम निर्माण को बढ़ावा दिया जावे। इन क्षेत्रों में प्रकरण स्वीकृत होने पर सब्सिडी का प्रावधान भी है। इससे किसानों की आमदनी में भी बढ़ोत्‍तरी होगी। उप संचालक कृषि, नाबार्ड और अन्य बैंक इस दिशा में कार्य करें।

स्वरोजगार योजनाओं की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कहा कि जिन प्रायवेट बैंकों एवं अन्य बैंकों ने शासन की योजनाओं के अंतर्गत प्रकरण स्वीकृत नहीं किये हैं, वे आगे से इसमें प्रगति लायें। अनुसूचित जाति- जनजाति व कमजोर वर्ग और महिलाओं को प्राथमिकता दें।

बैठक में बताया गया कि मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में जिले ने 136 प्रतिशत की उपलब्धि दर्ज की गई है, जो पूरे मध्यप्रदेश में प्रथम है। मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना एवं सावित्री बाई फूले स्वसहायता समूह योजना में जिले में बीते वित्‍तीय वर्ष में 141.23 प्रतिशत की उपलब्धि रही है। कलेक्टर ने स्वरोजगार योजनाओं में जिले की उपलब्धि को सराहनीय बताया।

कलेक्टर ने कहा कि बैंकर्स ब्रिस्क के अंतर्गत आरआरसी बसूली के प्रकरणों पर ध्यान दें और प्रगति लायें।

कलेक्टर ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बैंकर्स शाखावार लंबित प्रकरणों को चैक करें। कलेक्टर ने ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान- सेंट आरसेटी से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले हितग्राहियों को शासन की स्वरोजगारमूलक योजनाओं का लाभ दिलाने और बैंकों से क्रेडिट लिंकेज पर जोर दिया।

इस अवसर पर एजीएम भारतीय रिजर्व बैंक भोपाल माला शर्मा, डीडीएम नाबार्ड एसआर महादिक, एलडीएम डीके सिंह, उप संचालक कृषि एसके माहोर, महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक आरसी पटले, महाप्रबंधक उद्योग पीडी वंशकार, सभी बैंकों के जिला समन्वयक और संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में एलडीएम श्री सिंह ने वार्षिक साख योजना 2018- 19 की उपलब्धि बताई। उन्होंने बताया कि निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध कृषि ऋण में 97 प्रतिशत, एमएसएमई में 51 प्रतिशत, अन्य प्राथमिकता क्षेत्रों में 60प्रतिशत और कुल प्राथमिक क्षेत्र में 96 प्रतिशत की उपलब्धि दर्ज की गई है। जमा साख अनुपात के अंतर्गत बैंक जमा अग्रिम मार्च 2019 की स्थिति में 102 प्रतिशत है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close