जिला समाचार

आम जनता की शिकायतों व समस्याओं के निराकरण की प्रणाली को मजबूत एवं संवेदनशील बनायें

कलेक्टर ने ली राजस्व अधिकारियों की बैठक

नरसिंहपुर01 जून 2019. कलेक्टर दीपक सक्सेना ने कहा है कि अधिकारी आम जनता की शिकायतों व समस्याओं के निराकरण की प्रणाली को और मजबूत एवं संवेदनशील बनायें। इसके लिए जिले में जनसुनवाई एवं एसडीओ राजस्व कैम्प की नवीन व्यवस्था लागू की गई है। जनसुनवाई अब जिला स्तर के अलावा अनुविभागीय राजस्व अधिकारी कार्यालय स्तर और ग्राम पंचायत स्तर पर भी शुरू की गई है। श्री सक्सेना शनिवार को राजस्व अधिकारियों की बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ले रहे थे। बैठक में कलेक्टर ने राजस्व प्रकरणों, नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन आदि की राजस्व न्यायालयवार समीक्षा की और लंबित प्रकरणों के तत्परता से निराकरण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली पर ध्यान दिया जावे।

बैठक में अपर कलेक्टर मनोज ठाकुर, एसडीएम महेश कुमार बमनहा, राजेश शाह व आरएस राजपूत, अधीक्षक भू- अभिलेख एचएल तिवारी, तहसीलदार व नायब तहसीलदार मौजूद थे।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि आगामी मंगलवार से जिले में जनसुनवाई की नवीन व्यवस्था रहेगी। कलेक्टर कार्यालय में अपर कलेक्टर जनसुनवाई करेंगे। जिले में नरसिंहपुर सहित सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारी कार्यालय स्तर पर भी जनसुनवाई की जायेगी। जनसुनवाई एसडीओ ऑफिस के कक्ष के बाहर किसी बड़े हाल या अन्य उपयुक्त स्थल पर की जायेगी। इसमें एसडीओ, तहसीलदार, सीईओ जनपद, सीएमओ, एसएडीओ, बीएमओ, एसडीओ पीएचई, सीडीपीओ, बीईओ, बीआरसी अनिवार्य रूप से मौजूद रहेंगे। कलेक्टर प्रतिनिधि के रूप में सभी अनुविभाग में जिला स्तरीय अधिकारी भी मौजूद रहेंगे, उन्हें जनसुनवाई की व्यवस्थाओं के बारे में प्रतिवेदन कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत करना होगा।

ग्राम पंचायत स्तर पर जनसुनवाई पटवारी और पंचायत सचिव द्वारा की जायेगी। यहां भी ग्राम पंचायत के कक्ष के बाहर किसी उपयुक्‍त स्थल पर जनसुनवाई होगी। सभी नायब तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक, पंचायत समन्वयक, एडीईओ संबंधित क्षेत्र में भ्रमण कर जनसुनवाई का निरीक्षण करेंगे। किसी भी स्थिति में जनसुनवाई अंदर कक्ष में नहीं होगी। आवेदन लिखने और आवेदक को पावती देने की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जायेगी। जिला स्तरीय अधिकारी जनसुनवाई का आकस्मिक निरीक्षण करेंगे। उपरोक्‍तानुसार जनसुनवाई में प्राप्त आवेदनों को पोर्टल पर दर्ज करना होगा।

कलेक्टर ने कहा कि जिले में शुरू की गई एसडीओ राजस्व शिविर की व्यवस्था अब पूरे संभाग में लागू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि एसडीओ राजस्व शिविर के आयोजनकेपहलेमैदानी अमले को गांव- गांवमेंजाकरलोगोंसेउनकीसमस्याओंसेसंबंधितआवेदनप्राप्तकरनाहै।इनआवेदनोंकानिराकरणतहसीलदार औरसंबंधितविभागकेअधिकारियों सेकरायाजानाहै।आवेदनोंकेनिराकरणकेपश्‍चातशिविरमेंइसकीजानकारीआवेदकोंकोदीजायेगीऔरलोगोंकोलाभांवितकियाजायेगा।

कलेक्टरनेकहाकिपटवारीकेकार्यस्थलकानिर्धारणकरदियागयाहैकिवेकब- कबकिस- किसग्रामपंचायतमेंबैठेंगे। उन्हेंप्रत्येकमाहकीचारएवं 24 तारीखकोछोड़करकिसीनकिसी पटवारी हल्कामुख्यालयकीग्रामपंचायतमेंसुबह 10.30 बजेसेशाम 5.30 बजेतकमौजूदरहनाहोगा। इसकी जानकारी ग्राम पंचायत के बोर्ड पर भी प्रदर्शित की जावे। साथहीसमयसीमामेंआवेदनोंकानिराकरणकरनाहोगा।

तसल्‍ली से सुनें आवेदकों की समस्यायें

कलेक्टर ने इस बात पर विशेष जोर दिया कि जनसुनवाई में आने वाले आवेदकों की समस्यायें एवं शिकायतों को अधिकारी तसल्‍ली से, ध्यानपूर्वक सुनें, समझें और उसके अनुसार आवश्यक कार्रवाई करें। आवेदकों को सम्‍मान पूर्वक बैठाकर सुनवाई की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जावे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close