जिला समाचार

रेत के अवैध भंडारण के तीन प्रकरणों में 390 घन मीटर रेत राजसात 46.80 लाख रूपये अर्थदंड भी लगाया

 

नरसिंहपुर, 14 मई 2019.नर्मदा एवं अन्य नदियों की पर्यावरण की दृष्टि से सुरक्षा करने, शासन को होने वाली आर्थिक क्षति एवं खनिजों के अवैध उत्खनन, परिवहन व भंडारण को हतोत्साहित करने के उद्देश्य से न्यायालय कलेक्टर नरसिंहपुर ने रेत खनिज के अवैध भंडारण के तीन प्रकरणों में मध्यप्रदेश रेत नियम 2018 के तहत जप्तशुदा 390 घन मीटर रेत खनिज राजसात करने का आदेश दिया है। साथ ही अनावेदकों के विरूद्ध 23.40 लाख रूपये का अर्थदंड और पर्यावरणीय क्षति के रूप में 23.40 लाख रूपये की राशि अधिरोपित की है। इस तरह इन तीन प्रकरणों में कुल 46 लाख 80 हजार रूपये का अर्थदंड लगाया गया है।

इस सिलसिले में कलेक्टर दीपक सक्सेना ने खनिज अधिकारी को आदेशित किया गया है कि वे उक्त राशि बसूल करने की विधिवत कार्रवाई करें और रेत खनिज का नियमानुसार निराकरण सुनिश्चित करें। यह कार्रवाई अनावेदक ममता स्थापक सरपंच एवं अशोक कुमार स्थापक सचिव ग्राम पंचायत बैरागढ़ तहसील नरसिंहपुर, रमेश पिता हरप्रसाद किरार एवं अरविंद पिता धनीराम किरार दोनों निवासी सिमरियाकलां तहसील तेंदूखेड़ा और जावेद वल्द शेख साजिद एवं अमीनुद्दीन उर्फ बड्डे वल्द शेख जीवन दोनों निवासी रांकई तहसील करेली के विरूद्ध की गई है।

ग्राम पंचायत बैरागढ़ वाले मामले में जप्तशुदा 97 ट्राली अर्थात 291 घन मीटर रेत खनिज राजसात की गई। साथ ही अनावेदकगण पर 17 लाख 46 हजार रूपये का अर्थदंड और इसके बराबर 17 लाख 46 हजार रूपये की राशि पर्यावरण क्षतिपूर्ति के रूप में अतिरिक्त दंड के रूप में अधिरोपित की गई। इस तरह कुल 34 लाख 92 हजार रूपये का अर्थदंड लगाया गया है।

इसी तरह सिमरियाकलां वाले मामले में जप्तशुदा 8 ट्राली अर्थात 24 घन मीटर रेत खनिज राजसात की गई। साथ ही अनावेदकगण पर एक लाख 44 हजार रूपये का अर्थदंड और इसके बराबर एक लाख 44 हजार रूपये की राशि पर्यावरण क्षतिपूर्ति के रूप में अतिरिक्त दंड के रूप में अधिरोपित की गई। इस तरह कुल 2 लाख 88 हजार रूपये का अर्थदंड लगाया गया है।

इसी तरह रांकई वाले मामले में जप्तशुदा 25 ट्राली अर्थात 75 घन मीटर रेत खनिज राजसात की गई। साथ ही अनावेदक क्र. एक पर 4 लाख 50 हजार रूपये का अर्थदंड और इसके बराबर 4 लाख 50 हजार रूपये की राशि पर्यावरण क्षतिपूर्ति के रूप में अतिरिक्त दंड के रूप में अधिरोपित की गई। इस तरह कुल 9 लाख रूपये का अर्थदंड लगाया गया है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close